Sunday, May 10, 2015

Original Nadi Astrology Teaching Series Post 8

This teachings written by scholar shri Ram Krishan Goel, now residing in Gurgoen. This Nadi system where Ascendent is considered equally very important. Now for us he has produced the series to understand the basics and naunces of original Nadi Astrology. This particular material is cover under his copyright as wherever applicable.

His material will be soon available in print.  He can be contacted through 09810919479

[Vijay Goel] I find it is expansion of R G Rao's nandi nadi concept with ascendent. All nadis has same basic but little bit differet in applications. Much of the basic content is taken from "Core of Nadi Astrology" of Late RG Rao.


-------------------------------------------------------------------------
POST No.    8

राशि एवम् उनकी आदते।
Rasis And Their General Character


Aries (MESHA)
House of mars, thorn plants, central govt, Hasty, impulsive, restless, short-tempered, red in color,

Taurus(VRISHABA)
Slow in movement, inclined to ease and luxury, faithful & obedient, cattle shed, fruits, white color, food grains, face, treasury

Gemini(MITHUNA)
Good speakers, witty and humorous, inquiring and curious, fond of knowledge, fun seeking, commercial place,green grass and leaves balcony big hall gambling house.

Cancer(KATAKA)
Emotional, forgiving, sensitive, watery place, tank, bath rooms, milk booths, place of deities, pin in color.  
 

Leo (SIMHA)
Dominative, behaves like ruler, have teja on face, caves, kingdom, court, raj darbaar, belly, stomach, government and places.

Virgo (KANYA)
Intelligent, good speaker, tactful, place of intellect,big commercial localty,places of amusements,gre in color, places of learning,playing ground,coins

Libra(TULA)
Good talker, judicious in dealings, treasury, place of business, variegated in color,abdomen

Scorpio(VRISCHIKA)
Straight forward, likes to hide or run away from people and crowds, underground  like mines, places containing venomous reptiles, wils places, battle field, village, vallys, color of red & black, secret organs,

Sagittarius(DHANUS)
Honest, easy going, even- tempered, kind hearted, gambles, forest & forest places, places of armories, archery, thigh, crowd of trees

Capricorn(MAKARA)
Witty, and changeable, good organizer, cautious, secretive, ambitious, preserving, pragmatic, places of dust, slum areas, knees, water jungles, dawarpalak, guards,

Aquarius ( Kunbh)
Studious, philosopher, honest, benevolent,secret places, dark places,pot shape, small villages, round shape like kumbha, mutton market, buttock

Pisces (MEENA)
Lazy, emotional, timid, honest, talkative, intuitive , psychic, fond of good food and company, bank of rivers, tanks, pure holy and watery places ( likr thirth sthan as Mathura, Haridwar, Allahabad), golden and black

उपरोक्त पोस्ट 8 का  हिन्दी ट्रांसलेशन श्री पवन शर्मा जी, ग़ाज़ियाबाद, जो ज्योतिष के विद्वान है उन्होंने किया है।। ओर आगे भी कर रहे है। हम उनके आभारी है।

राशियाँ एवम् उनके स्वभाव-

मेष- इस राशी का अधिपति मंगल है। मेष राशी द्योतक है कंटीले पौधे, केंद्रीय सरकार, उतावलापन, तुरंत काम करने वाला। बेचैनी, शीघ्र गुस्सा करने वाला, लाल रंग।

वृष राशी- धीमी गति, आराम और ऐश्वर्य पसंद, विश्वास पात्र, आज्ञाकारी, पशुशाळा, फल, सफ़ेद रंग, खाद्यान्य, चेहरा और खज़ाना।

मिथुन - अच्छा प्रवक्ता, चालाक एवं हास्यप्रिय, उत्सुक और जिज्ञासु, मौजी, व्यापारिक संस्थान, हरी पत्तियां एवं घास,बालकनी, बड़े हॉल और जुआघर।

कर्क- भावुक, क्षमादानी, जलीय स्थान, टंकी, स्नान गृह, मिल्क बूथ, देवालय। गुलाबी रंग।

सिंह- हावी स्वभाव, शासक की तरह व्यवहार करने वाला, तेजस्वी मुख मंडल, गुफा, राज्य, न्यायालय, राज दरबार, पेट, सरकारी संस्थान।

कन्या- बुद्धिमान, बौद्धिक वातावरण, अच्छा वक्ता, चपल, बड़े व्यापारिक संस्थान, मनोरंजन एवं खेल के मैदान, ज्ञान शालाएं।सिक्के (धन)।

तुला- बातचीत में निपुण, मोल-भाव में सच्चाई बरतने वाला, खज़ाना, रंग बिरंगा, पेट और लिवर का हिस्सा एब्डोमेन।

वृश्चिक - सीधा-सपाट बोलने वाला, बात को छुपानेवाला या लोगों और भीड़ भड्डके से दूर भागने वाला, भूतल अथवा खदान, ज़हरीले जल एवं भूचर पशु, रण क्षेत्र, गाँव, वादियाँ, लाल एवं काला रंग, गुप्तांग।

धनु- सत्यवादी, मौजी, संतुलित मानसिकता वाला, दयालु प्रकर्ति, जुआरी, जंगल एवं घने पेड़ों वाले स्थान, शस्त्रशाला, धनुर्विद्या, जंघा ।

मकर - चपल एवं परिवर्तनशील, योग्य प्रबंधक, सतर्क, गुप्त व्यवहार, महत्वकांशी, संग्रक्षण प्रिय ,व्यवहारिक, धूल-मिट्टी के स्थान,झुग्गी-झोपडी, घुटना, जलीय वन, द्वारपाल, सिक्यूरिटी गार्ड।

कुम्भ- पढ़ाकू, दार्शनिक, सत्यवादी, उदार, गुप्त एवं अंधकारमय स्थान, छोटे गांव एवं कसबे, कुम्भाकृति, मांस बाज़ार, कूल्हे।

मीन -आलसी,भावुक, डरपोक, सत्यवादी, बातूनी, सहजग्य(intuitive), आत्मा एवं मन का ज्ञाता(psychic)अच्छे भोजन एवं संग-साथ का शौक़ीन, नदी का किनारा, शुद्ध मंदिर एवं जलीय तीर्थ स्थान, रंग सुनहरा एवं काला।

--------------------- 
यहाँ विशेष ध्यान दे की ये राशिओ की आदत है। जो विवरण दिए गए है उन की बहुतायत पाई जाती है।
जेसे सिंह राशि। अब इस राशि मे जो ग्रह बेथा होगा उस ग्रह की आदतो मे सिंह राशि की आदते बहुतायत में दिखाई देंगी। उदाहरण के लिय अगर किसी का शुक्र सिंह मे हो तो उसकी पत्नी राजशी परिवेश की होगी ओर उसी परिवेश मे रहना पसंद करेगी।हुक्म देना। धमकी देना। बहादुर दिखना। हमेशा हावी रहना प्रिकीर्ति होगी।

कुम्भ मे कूल्हे शब्द आया है । इसका दो तातपर्य है
पहला शरीर का हिस्सा । दूसरा उस तरह की सक्ल से मिलना। अत कुम्भ राशि मे स्थित ग्रहो से जो भी जीवित या अजीवित वस्तु बनेगी। उनकि सकल बनावट आदि कूल्हे जेसी हो।सकती है।

मीन राशि मे जलीय तीर्थ स्थान का तातपर्य है जेसे हरिद्वार मथुरा बनारस आदि आदि।


अगर किसी निर्जीव वस्तु को भी जानना चाहते है तो उस वस्तु मे इस प्रकार की विशेस्ता पाई जायेगी।

------------------

Please go through these notes.

Thankyou
Best Wishes,
Vijay Goel
Mob : 8003004666

---------------

1 comment:

Blogger said...

QUANTUM BINARY SIGNALS

Get professional trading signals sent to your mobile phone daily.

Follow our trades NOW and gain up to 270% daily.